team banner

Home संस्थान के बारे में
संस्थान मुद्रण ई-मेल

                                    

परिचय

केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान (CIRB) की स्थापना वर्ष 1985 में हुर्इ थी। इसे तत्कालीन संतान परीक्षण सांड फ़ॉर्म, हिसार का हरियाणा राज्य सरकार से भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद को हस्तांतरण द्वारा स्थापित किया गया था।  संतान परीक्षण सांड फ़ॉर्म में उपलब्ध बुनियादी सुविधाएँ, भूमि, संप​ित्त्ा और भैंस झुंड सी.आर्इ.आर.बी. को हस्तांतरित किए गए और संस्थान ने 1 फरवरी 1985 से कार्य करना प्रारम्भ कर दिया। पंजाब राज्य सरकार से नीली-रावी भैंस फ़ॉर्म के हस्तांतरण द्वारा दिसम्बर 1987 में बीर दोसांझ, नाभा, जिला पटियाला, पंजाब में एक उप- परिसर की स्थापना की गर्इ। मुख्य परिसर ने अत्यधिक अच्छी नस्ल के मुर्रा प्रजनन झुंड की स्थापना की, जबकि उप-परिसर ने नीली-रावी भैंस के अत्यधिक अच्छी वंशावली के प्रजनन झुंड को स्थापित किया। संस्थान द्वारा उन्नत भैंसों के विभिन्न पहलुओं पर अनुसंधान किया जाता है जिसमें शामिल हैं जर्मप्लाज़्म का संरक्षण, सुधार और प्रसार, इष्टतम आहार और चारा प्रणालियों का विकास, प्रजनन क्षमता और दूध, माँस तथा प्रजातियों के सूखे के दौरान निष्पादन को बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य प्रबंधन के तरीक़ों में वृद्धि।

भावी परिकल्पना

देश के विभिन्न क्षेत्रों में निहित सूखे की स्थिति से निबटने की क्षमता को बनाए रखते हुए, गुणवत्ता वाले दूध और माँस उत्पादन के लिए, अधिक लाभ देने वाले कुलीन भैंसों के जर्मप्लाज़्म का विकास और प्रसार करना।

लक्ष्य

पहचान, संरक्षण और कुलीन जर्मप्लाज़्म के प्रसार के माध्यम से संवहनीय उत्पादन और व्यवसायीकरण के लिए प्रजनन और पोषक तत्वों के उपयोग की उच्च क्षमता वाले भैंसों का सुधार करना।

आदेश-पत्र

  • भैंस उत्पादन के सभी पहलुओं पर शोध करना और शोध को बढ़ावा देना।
  • भैंसों की महत्वपूर्ण नस्लों के केंद्रक प्रजनन झुंझ स्थापित करना।
  • भैंस उत्पादन और विकास के सभी पहलुओं पर जानकारी के भंडार के रूप में कार्य करना।
  • भैंस अनुसंधान और विकास के क्षेत्र में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों के साथ सहयोग करना।
  • प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के लिए विस्तार गतिविधियों की जिम्मेदारी लेना।


 




Top

 

फोटो गैलरी

नवीनतम प्रकाशन

 

Annual Report 2016-17

   

  Network Report    
FAO-IAG
 
                             Cerificate              
 
Newsletter         Drought -  
 2014-15           Its impact on  
                        Livestock
 
ISO                           ISO
Certificate
Renewed
 
    
 

This website belongs to , Indian Council of Agricultural Research, an autonomous organization under the Department of Agricultural Research and Education, Ministry of Agriculture, Government of India RTI | Disclaimer | Privacy Statement
Designed and Maintained by AKMU,CIRB